Updated : Dec 08, 2019 in Yojana

मध्य प्रदेश ई-रिक्शा योजना | पूरी जानकारी | कैसे मिलेगा लाभ

मध्य प्रदेश ई-रिक्शा योजना | Madhya Pradesh E-Rickshaw Scheme

 

मध्य प्रदेश सरकार दवारा 07 दिसंवर 2019 को महिलाओं के लिए ई-रिक्शा योजना को शुरु किया है। इस योजना के तहत राज्य में महिलाओं दवारा रिक्शा चलाया जाएगा। ई-सवारी रिक्शा सेवा से महिलाओं को रोजगार मिलेगा और वे आर्थिक रूप से मजबूत बनेंगी। योजना में पंजीकृत महिला चालकों को ई-रिक्शा के लिये फेम योजना में 30% सब्सिडी मिलेगी। इसके अलावा 37 हजार रुपये की सब्सिडी और 7% के ऊपर ब्याज पर भी सब्सिडी मिलेगी। इस योजना से लोगों को घर से नजदीकी बस स्टॉप तक कनेक्टिवीटी मिलेगी। जिससे लोग कम से कम अपने वाहनों का उपयोग करेगें। ई-रिक्शा में यात्रियों को मोबाइल चार्जर, वाई-फाई, पेटीयम और जीपीएस जैसी सुविधाएं भी मिलेगी। महिलाओं को रिक्शा चलाने के लिए ट्रेनिंग भी दी जाएगी। ई-रिक्शा चालक महिलाओं की सुविधा के लिए सुपरवाइजर भी उपलव्ध होगें। ये ई-रिक्शा 3 घंटे में चार्ज करने पर 85 किलोमीटर का सफर तय करेगें। इंदौर में 10 रुट पर 100 ई-रिक्शा चलेगें, जविक अगले चरण में 500 ई-रिक्शा चलाए जाएगें। इस योजना के तहत इंदौर देश का पहला राज्य वन गया है, जहां पर महिलाओं दवारा रिक्शा चलाया जाएगा।

उद्देश्य | An Objective

मध्य प्रदेश ई-रिक्शा योजना का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को रोजगार दिलवाकर, ई-रिक्शा के माध्यम से लोगों को अपने घर से नजदीकी बस स्टॉप तक जाने के लिए कनेक्टीवीटी की सुविधा उपलव्ध करवाना है, ताकि लोग अपने वाहनों का कम से कम उपयोग करें।  

पात्रता | Eligibility

  • मध्य प्रदेश के स्थायी निवासी
  • बेरोजगार महिलाएं

प्रमुख विशेषताएं | Major features

  • महिलाओं को मिलेगा रोजगार
  • महिलाओं सशक्त वनेग़ी।
  • ई-रिक्शा की सुविधा
  • ई-रिक्शा चलाने के लिए महिलाओं को मिलेगी ट्रेनिग़
  • पर्यावरण के लिए अनुकूल वाहन
  • शकितशाली वाहन बैटरी चार्जर
  • सफर को आसान वनाना
  • कनेक्टीवीटी की सुविधा
  • लोग अपने वाहनों का कम से कम उपयोग करेगें
  • डिजिटल भुगतान
  • प्रदूषण कम होगा

लाभ | Benefits

  • ई-रिक्शा योजना का लाभ मध्य प्रदेश की महिलाओं को मिलेगा।
  • इस योजना के तहत राज्य सरकार दवारा महिलाओं के लिए इलेक्ट्रिकल रिक्शा उपलव्ध करवाए गए हैं।
  • इस योजना के तहत महिलाओं को रोजगार मिलेगा।
  • इस योजना से महिलाएं आत्म-निर्भर और सशक्त बनेगीं।
  • इस योजना से सफर को आसान और सुबिधाजनक वनाया गया है।
  • महिलाओं को रिक्शा चलाने के लिए ट्रेंनिग़ मिलेगी।
  • इस योजना से महिलाओं का आर्थिक पक्ष मजबूत होगा।
  • लोगों को अपने घर से नजदीकी बस स्टॉप तक जाने के लिए कनेक्टिवीटी मिलेगी।
  • ई-रिक्शा पूरी तरह से प्रदूषण रहित है।
  • ई-रिक्शा में यात्रियों के लिए मोबाइल चार्जर, वाई-फाई, पेटीयम और जीपीएस जैसी सुविधाएं भी उपलव्ध हैं।

वे कौन से रुट हैं जहां ई रिक्शा चलेगें | What are the routes where E-Rickshaw go

इस योजना के तहत इंदौर में 10 रुटों पर 100 ई-रिक्शा चलेगें। वे कौन-कौन से रुट हैं, जहां पर ई-रिक्शा सुविधा मिल रही है।

  • रूट -1 – अन्नपूर्णा मंदिर से फूटी कोठी
  • रूट – 2 – रेल्वे स्टेशन से पिप्लियाहाना
  • रूट – 3 – मरिमाता चौराहे से कलेक्टर कार्यालय
  • रूट – 4 -गौरी नगर से रोबोट चौराहा
  • रूट – 5 – आजाद नगर से शनि मंदिर, जूनी इंदौर
  • रूट – 6 – खजराना चौराहा से परदेशीपुरा
  • रूट – 7 – स्कीम 78 से जैन नर्सरी
  • रूट – 8 – विजय नगर पुलिस स्टेशन से जैन नर्सरी
  • रूट – 9 – तुलसी नगर से विजय नगर पुलिस स्टेशन
  • रूट – 10 – कलेक्टर कार्यालय से पिपलिया राव रिंग रोड, गुरुद्वारा

इस योजना के तहत अगले चरण में 500 ई-रिक्शा चलाए जाएगें। राज्य सरकार दवारा इस योजना के तहत राज्य में वढ रहे प्रदूषण के खतरे को खत्म करना है। ये योजना आने वाले समय में काफी कारगर सावित होगी।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!