Updated : Nov 15, 2019 in Yojana

मुख्यमंत्री सेप्टिक टैंक सफाई योजना | पूरी जानकारी | कैसे मिलेगा लाभ

मुख्यमंत्री सेप्टिक टैंक सफाई योजना | Chief Minister Septic Tank Cleaning Scheme

 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 15 नंववर 2019 को दिल्ली की कच्ची कॉलोनी में रह रहे लोगों के लिए एक नई योजना को शुरु किया है, जिसका नाम है – मुख्यमंत्री सेप्टिक टैंक सफाई योजना । इस योजना के तहत कच्ची कॉलोनी में रह रहे लोगों के सेप्टिक टैंक अब दिल्ली सरकार दवारा साफ करवाए जाएगें। इस योजना से अनधिकृत कॉलोनियों को पक्का करने के लिए 15 दिन से लेकर 1 महीने में सारी कॉलनियों की रजिस्ट्री कराई जाएगा और इस योजना का लाभ दिया जाएगा। क्या है, ये योजना आइए जानते हैं।

क्या है मुख्यमंत्री सेप्टिक टैंक सफाई योजना | What is the Chief Minister Septic Tank Cleaning Scheme

मुख्यमंत्री सेफ्टी टैंक सफाई योजना लिए दिल्ली जल बोर्ड दवारा टेंडर जारी किया जाएगा, फिर उसे एक एजेंसी को नियुक्त किया जाएगा। उसके बाद एजेंसी 80 ट्रक के साथ शुरुआत करके लोगों को एक फोन नंबर दिया जाएगा, अब किसी भी व्यक्ति को अपने सेफ्टी टैंक की सफाई करवानी हो तो उसे दिए गए नंबर पर संपर्क करना होगा। उसके बाद दिल्ली जल बोर्ड दवारा ट्रक को भेजा जाएगा। सेप्टिक टैंक की सफाई करके वह ट्रक सारा मलबा किसी भी सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट में दे देगा। इस तरह से लोगों को कानूनी तरीके से अपना सेप्टिक टैंक साफ कराने की सुविधा मिल जाएगी। इस योजना से एक तो शहर साफ होगा, दूसरा यमुना साफ होगी।

क्यों शुरु करना पडा इस योजना को | Why did you have to start this Scheme

अक्सर देखा गया है, कि दिल्ली की ज़्यादातर अनधिकृत कॉलोनी में सीवर लाइन की सुविधा नहीं है जिसके चलते शौचालय का सारा कचरा एवं मल के लिए वहां एक सेप्टिक टैंक लगाया जाता है। लेकिन जब वह सेप्टिक टैंक भर जाता है तो उसकी सफाई कराने के लिए जिन प्राइवेट एजेंसियों की मदद ली जाती है वह ज़्यादातर ना तो पेशेवर होती हैं और ना ही उसमें मजदूरों की सुरक्षा का ध्यान रखा जाता है, जिसके चलते सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान कई मजदूरों की मौते भी हो चुकी हैं। पिछले 3 सालों में देश भर में सीवर या सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान 88 लोगों की मौत हुई थीं, जिसमें सबसे ज्यादा 18 मौतें दिल्ली में हुई थीं।

इस समस्या से निजात पाने के लिए ही दिल्ली सरकार ने सेफ्टी टैंक सफाई योजना को लागु किया है। इस योजना से एक तो सफाई की तरफ ध्यान दिया जाएगा, दूसरा दिल्ली में वढ रही मौतों से भी निजात मिलेगी।

इस योजना को सुचारु रुप से चलाने में कितना समय लगेगा | How long will this Scheme take to run smoothly

दिल्ली के अंदर कुल 1797 अनाधिकृत कॉलोनियां हैं। जिनमें से 430 कॉलोनियों में सीवर को डाला जा चुका है, जबकि दिल्ली जल बोर्ड के मुताबिक करीब 400 कॉलोनियों में सीवर डालने का काम अभी चल रहा है, जिसे अगले एक डेढ़ साल के अंदर पूरा कर दिया जाएगा। इस योजना के तहत करीब 947 कॉलोनियों में अभी कुछ साल तक सीवर डालने में समय लग सकता है।

उद्देश्य | An Objective

मुख्यमंत्री सेप्टिक टैंक सफाई योजना का मुख्य उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि जो लोग मैला ढोने के व्यापार का हिस्सा बनने के लिए मजबूर हैं उन्हें अब अपनी जान जोखिम में नहीं डालनी पडेगी और कॉलोनी में रह रहे लोगों के सेप्टिक टैंक अब दिल्ली सरकार दवारा साफ करवाए जाएगें।  

पात्रता | Eligibility

  • टेंडर जारी कर एजेंसी को नियुक्त करना।
  • बोर्ड दवारा आन डिमांड मुफ्त में सफाईकर्मी मुहैया करवाना।
  • आवेदक का रजिस्टड मोबाइल नम्वर
  • जहां पे सफाई करवानी है, वहां का पता
  • 15 दिन से लेकर एक महीने में सारी कॉलनियों की होगी रजिस्ट्री।

लाभ | Benefits

  • सेफ्टी टैंक सफाई योजना का लाभ दिल्लीवासियों को मिलेगा।
  • इस योजना के तहत कॉलोनी में रहने वाले लोगों के सेप्टिक टैंक दिल्ली सरकार दवारा साफ करवाए जाएगें।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए दिल्ली जल बोर्ड दवारा टेंडर जारी कर, उसे एजेंसी को नियुक्त किया जाएगा।
  • इसके तहत आन डिमांड मुफ्त में सफाईकर्मी मुहैया करवाए जाएगें।
  • इसके बाद जहां पे आपको सफाई करवानी है, वहां पे बोर्ड दवारा ट्रक भेजकर उस स्थान की सफाई करवाई जाएगी।
  • कॉलोनियों को पक्का करने के लिए 15 दिन से लेकर एक महीने में सारी कॉलनियों की रजिस्ट्री करवाई जाएगी और इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • जो स्थान अधिक दूषित हैं, वहां पे निरिक्षण कर उस इलाके को बोर्ड दवारा साफ करवाया जाएगा।
  • इस योजना से एक तो सफाई का विशेष ध्यान रखा जाएगा, दूसरा सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान मजदूरों की अब मौते नहीं होगीं।
  • साफ-सुधरा माहोल होने से बिमारियों का खतरा भी कम होगा।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!