Updated : Oct 19, 2019 in Yojana

दिल्ली ऑड ईवन योजना 2019 | पूरी जानकारी | जुर्माना राशी

दिल्ली ऑड ईवन योजना 2019 | Delhi Odd Even Scheme 

 

17 अक्टूबर 2019 को दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने एक नई योजना की घोषणा की है। जिसका नाम है – दिल्ली ऑड ईवन योजना । इस योजना को 4 नवंबर से 15 नवंबर 2019 को दिल्ली में सुबह 8 बजे से लेकर शाम 8 बजे तक लागू किया जाएगा।  दिल्ली में बढ़ती जनसंख्या और प्रदूषण के साथ यातायात दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। दिल्ली में यातायात इतना अधिक हो गया है, अगर आप सफर करने निकलते हैं, या ऑफिस के लिए जाते हैं तो आपके लगभग 2-3 घंटे यातायात पर बर्बाद हो जाते हैं। इसके अलावा लोग दूरस्त स्थान पर जाने के लिए और दूरी को कवर करने के लिए चार पहिया वाहनों का उपयोग कर रहे हैं। इसलिए इन मानदंडों को खत्म करने के लिए दिल्ली सरकार ने वर्ष 2016 में ऑड-ईवन योजना को लागू किया था। अब इसे 2019 में भी तीसरी बार लागू किया जा रहा है। यह दिल्ली में आनेवाली बाहर की गाड़ियों पर ये योजना लागू होगी। इसे रविवार को लागू नहीं किया जाएगा। मतलब हफ्ते के बाकी 6 दिन (सोमवार से शनिवार) तक यह स्कीम लागू रहेगी। इस योजना से कुछ BIPG, आपातकालीन सेवा, महिलाओं, बच्चों एवं स्कूली बच्चों के वाहनों को छूट दी गई है। इसके अलावा केंद्र सरकार के मंत्रियों को भी इस योजना के तहत छूट मिलेगी, लेकिन दिल्ली के मंत्रियों को इसके दायरे में रखा गया है।

उद्देश्य | An Objective

ऑड ईवन योजना का मुख्य उद्देश्य वढ रहे प्रदूषण को खत्म करना है और राज्य सरकार दवारा लोगों को प्रदूषण से बचने के लिए मास्क भी दिए जाएगें,ताकि लोग अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रख सकें।

लाभ | Benefits

  • ऑड ईवन योजना का लाभ दिल्लीवासियों को मिलेगा।
  • इस योजना से दिल्ली शहर को यातायात में आने वाली समस्याओं को खत्म करने में मदद मिलेगी।
  • इस योजना से शहर के विकास में मदद मिलेगी।
  • इस योजना से यातायात नियमों के सफल कार्यान्वयन में भी मदद मिलेगी।
  • इस योजना के तहत महिलाओं की सुरक्षा को देखते हुए उन्हें ऑड-ईवन से छूट दी जाएगी।
  • इस योजना के तहत जनता को कोई परेशानी न हो, इसके लिए सरकार दवारा 2,000 प्राइवेट बसों की भी सेवाएं उपलव्ध की गई हैं।
  • इस योजना के तहत दिल्ली की सड़कों पर एक दिन ऑड नंबर वाली गाड़ियां चलेंगी और एक दिन ईवन नंबर वाली गाड़िया चलेंगी।
  • ऑड नंबर वाली गाड़ियां 5, 7, 9, 11, 13 और 15 नवंबर को चलेंगी।
  • ईवन नंबर वाली गाड़ियां 4, 6, 8, 10, 12 और 14 नवंबर को चलेंगी।
  • प्रदूषण से बचने के लिए राज्य सरकार दवारा लोगों को मास्क भी उपलव्ध करवाएं जाएगें, ताकि लोग अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रख सकें।
  • इसके अलावा दिल्ली में पर्यावरण मार्शल की भी नियुक्ति होगी।
  • प्रदूषण पर शिकायतों के लिए वार रूम की भी व्यवस्था की जाएगी।
  • सड़कों की सफाई मशीनों की मदद से होगी, पेड़ लगाए जाएंगे।
  • प्रदूषण से सबसे ज्यादा प्रभावित इलाकों के लिए विशेष योजना वनाई जाएगी।

ऑड इवन स्कीम से मिलने वाली छूट | Discount from odd even scheme

ऑड इवन स्कीम के तहत जिन लोगों को छूट दी गई है, उनका विवरण नीचे दिया गया है –

  • अध्यक्ष
  • उपाध्यक्ष
  • प्रधान मंत्री
  • गवर्नर्स
  • मुख्य न्यायाधीश
  • लोकसभा अध्यक्ष
  • केंद्रीय मंत्रियों के वाहन
  • राज्यसभा और लोकसभा नेता प्रतिपक्ष
  • राज्यों और संघ राज्य क्षेत्रों के मुख्यमंत्रियों के वाहन
  • सुप्रीम कोर्ट के जजों के वाहन
  • यूपीएससी अध्यक्ष
  • मुख्य चुनाव आयुक्त
  • चुनाव आयुक्त
  • सीएजी
  • उप सभापति राज्य सभा
  • लोकसभा के उप अध्यक्ष
  • दिल्ली के उपराज्यपाल
  • दिल्ली उच्च न्यायालय के न्यायाधीश
  • लोकायुक्त
  • स्कूली छात्रों को ले जाने वाले वाहन
  • महिलाएं
  • इसके अलावा बाइक, स्कूटी जैसे दोपहिया वाहनों को भी ऑड और ईवन स्कीम के तहत छूट दी जाएगी।

जुर्माना | Fines

यातायात के नियमों का पालन करना हर व्यकित का कर्त्व्य है, अगर कोई व्यकित यातायात के नियमों का उलंघन करता है, तो उस सिथति में वर्ष 2019 में ऑड और ईवन स्कीम के तहत आवेदक पर जुर्माना लगाया जाएगा। ये जुर्माना 4000/- रुपये रखा गया है, जविक वर्ष 2016 में जुर्माना 2000/- रुपये था। इस राशी को वढाने का एक कारण ये है, एक तो आवेदक यातायात के नियमों का पालन करेगा, दूसरा अगर कोई इन नियमों का उलंघन करता है, तो उसे जुर्माना राशी दोगुनी देनी होगी (4000/-) । जुर्माना राशी अधिक होने के डर से लोगों को ऑड और ईवन स्कीम के नियमों की पालना करना जरुरी होगा, ताकि कोई भी इन नियमों का उलघंन न करे।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!